top of page
  • Writer's pictureSamanta

चेतन के साथ चर्चा

जब हम किसी लेखक का लिखा हुआ पढ़ते है तो हमे उनसे काफी प्रेरणा मिलती है, पर क्या हो अगर आपको उसी लेखक से रूबारु मिलने का मौका मिले। मैं पहली बार किसी लेखक या ऐसे व्यक्ति से मिल रहा था जिसने शिक्षा के विषय में कोई किताब लिखी है। मुझे हाल ही में श्री चेतन कपूर (CEO of Tech Mahindra Foundation) से मिलने का मौक़ा मिला। उन्हें मिलने से पहले काफी सवाल थे। उनका हमारे स्कूल में आने का भी प्लान था। 10 नवम्बर को चेतन कपूर हमारे द्वारा बनाई गई लाइब्रेरी में आए और उन्होंने अपना थोड़ा समय लाइब्रेरी में बच्चों के साथ बिताया। बाद में हम सब साथी उनके साथ बैठे। वे हमारे सवालों को बड़े ही प्यार से समझते हुए जवाब दे रहे थे। उन्होंने अपने 21 साल के शिक्षा में सफर के बारे में भी बड़ी रोचक रोचक बातें बताई। साथ ही निजी जिंदगी से जुड़ी हुई बाते अपनी ग्रोथ की बाते भी हमारे साथ साझा की। मुझे लिखने में काफी दिक्कतें आती थी या यू काहू थोड़ी थोड़ी अभी भी आती है। इसी से जुड़ा हुआ मेरा सवाल भी था की एक अच्छा लेख हम कैसे लिख सकते है? अपने विचार को शब्दो का रूप किस तरह दिया जाना चाहिए और अगर हम किसी विषय पर लिखे तो किन बिंदुओं का ध्यान रखना चाहिए?  उन्होंने बड़ी ही सहजता से इसका जवाब दिया। लिखने के लिए जरूरी नहीं आपको उसे रोचक बनाने की कोशिश करनी है लेकिन एहेम ये है कि आप अपने विचार एक नियम के अनुसार लगातार एक अंतराल में लिखते रहेंगे तो आपका लेख रोज प्रतिदिन बेहतर होता जायेगा।



By Shoaib

14 views0 comments

Comments


bottom of page